बीकानेर की आर्थिक प्रगति में मील का पत्थर साबित होगा लागत लेखाकार संस्थान – मेघवाल

चैप्टर ऑफ द इंस्टीट्यूट ऑफ कोस्ट एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया का उद्घाटन

बीकानेर की आर्थिक प्रगति में मील का पत्थर साबित होगा लागत लेखाकार संस्थान-श्री मेघवाल

बीकानेर, 29 मई 2017।  केन्द्रीय वित्त एवं कम्पनी मामलात राज्य मंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि लागत लेखाकार संस्थान, बीकानेर की आर्थिक प्रगति में मील का पत्थर साबित होगा। बीकानेर में इन्वेस्टमेन्ट बढ़े, इसके लिए यह चैप्टर कुछ प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाएं, जिससे यहां रोजगार के अवसर बढ़ सके।
            वित्त राज्यमंत्री सोमवार को रानीबाजार स्थित होटल पार्क पैराडाइस में बीकानेर में बीकानेर-झुंझुनूं चेप्टर ऑफ द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया के उद्घाटन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आज जो  चैप्टर शुरू  हुआ है, उससे बीकानेर की आर्थिक प्रगति में इजाफा होगा। उन्होंने कहा सिरेमिक हब बीकानेर में ही बनेगा। इसके लिए संबंधित उद्यमी प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाकर भेजें, ताकि बीकानेर में रोजगार के अवसर बढ़ सकें। उन्होंने कहा कि इस संस्थान के अभाव में 500 से एक हजार विद्यार्थियों को कॉस्ट अकाउन्ट की शिक्षा लेने के लिए बीकानेर से बाहर जाना पड़ता था। अब इनके यहां शिक्षा ग्रहण करने पर बीकानेर की जीडीपी में इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि बीकानेर, झुुंझुनूं, नागौर, नोखा, रतनगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू, सरदारशहर, कोलायत, सीकर व हनुमागढ़ के बारहवीं पास विद्यार्थी लागत व प्रबंधन की प्रोफेशनल पढ़ाई बीकानेर में ही कर सकेंगे।
            श्री मेघवाल ने देश की आर्थिक प्रगति की चर्चा करते हुए कहा भारत में ग्लोबल लीडर बनने की ताकत है और यह बहुत तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि कॉस्ट एकाउंटेट्स ऑफ इंडिया एक नया चैप्टर आर्थिक विकास का वातावरण बनाने में सहभागी बने,जिससे देश विश्व को लीड कर सके।
            वित्त राज्यमंत्री ने भुजिया सहित अन्य खाद्य उत्पादों में जीएसटी में कर के संबंध में पूछे गए प्रश्नों का जबाव देते हुए कहा कि 3 जून को जीएसीटी की रिव्यू काउसिंल की बैठक होगी, जिसमें इन उत्पादों पर टैक्स को लेकर चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि भारत सरकार जनता के हित में कार्य कर रही है, इसके लागू होने से व्यापारियों को कोई परेशानी नहीं होगी। अगर कहीं सुधार की जरूरत हुई, तो वह अवश्य किया जायेगा।
इस अवसर पर द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि बीकानेर में इस संस्थान के खुलने से बड़ी संख्या में छात्र प्रवेश ले सकेंगे। यह राजस्थान का छठा तथा भारत का 96वां चैप्टर है। उन्होंने संस्थान का नाम बदलकर द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एंड मैनेजमेंट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया करने की मांग की। इस पर केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि यह मामला मंत्रलय में विचाराधीन है। भारत सरकार द्वारा नियुक्त काउंसिल सदस्य सुनील बहल ने कहा कि बीकानेर में सर्टिफिकेट इन अंकाउटिंग टेक्निशियन कोर्स की अच्छी संभावना है। इस कोर्स के विद्यार्थियों के लिए रोजगार के अवसर अधिक है।
            द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया नॉर्दन रीजन के चैयरमेन रवि साहनी स्वागत भाषण दिया तथा कोषाध्यक्ष राजेन्द्र भाटी ने सभी का आभार व्यक्त किया। द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउटेंट्स ऑफ इंडिया के काउंसिल सदस्य एच पदमानाभन  ने भी विचार रखे।

—– मोहन थानवी
आधार नामांकन एवं संशोधन के लिए केन्द्र स्थापित
बीकानेर, 29 मई। शहरी क्षेत्र में आधार नामांकन एवं संशोधन के लिए पांच स्थाई आधार नामांकन केन्द्र स्थापित हैं। इनके माध्यम से आधार नामांकन करवाया जा सकता है।

            उपनिदेशक सत्येन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि कलक्ट्रेट स्थित कमरा नंबर 37, जयपुर रोड स्थित पंचायत समिति, गंगाशहर स्थित नगर निगम के क्षेत्रीय कार्यालय, 5-सी-162 जयनारायण व्यास कॉलोनी तथा 8/84 मुक्ता प्रसाद नगर में आधार नामांकन केन्द्र स्थापित हैं। इन केन्द्रों पर निःशुल्क नामांकन करवा सकते हैं। संशोधन के लिए सरकार द्वारा दरों का निर्धारण किया गया है।

— मोहन थानवी

Advertisements

दो स्थानों पर निःशुल्क जांच एवं चिकित्सा परामर्श शिविर लगाए

बीकानेर, 28 मई 2017। पुष्करणा वेलफेयर बोर्ड और कल्ला डेंटल केयर के संयुक्त तत्वावधान् में रविवार को कोठारी हॉस्पिटल के सामने स्थित कल्ला डेंटल केयर कैंपस में निःशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर आयोजित किया गया। बोर्ड अध्यक्ष गोविंद जोशी ने बताया कि शिविर में वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. मनीष बोथरा, दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. राजकुमार कल्ला और डॉ. लक्ष्मण सिंह ने अपनी सेवाएं दीं। उन्होंने बताया कि शिविर में ब्लड प्रेशर, शूगर एवं यूरिक एसिड की जांचें निःशुल्क की गई तथा चिकित्सकीय परामर्श भी दिया गया। उन्होंने बताया कि बोर्ड द्वारा भविष्य में शहरी क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर शिविर आयोजित किए जाएंगे। वहीं, भगवती लैब द्वारा रविवार को जस्सोलाई स्थित व्यास पार्क में निःशुल्क शूगर, ब्लड प्रेशर एवं वजन जांच शिविर आयोजित किया गया। इस शिविर में लगभग 250 लोगों को लाभांवित किया गया।भगवती लैब के नितिन आसोपा ने बताया कि लैब द्वारा सामाजिक सरोकारों के तहत प्रत्येक माह के अंतिम रविवार को यह शिविर आयोजित किया जाएगा। इसमें निःशुल्क जांचों के अलावा स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि रविवार को आयोजित शिविर में जुगल राठी एवं लालजी व्यास ने शिविर का शुभारम्भ किया। शिविर में मारूति आसोपा, कमल मोहता, विचित्र नारायण, रामकुमार ओझा, सुनील सुथार, दामोदर व्यास, बसंत व्यास, मणिशंकर, राघव, केशव एवं चेरी आसोपा ने सेवाएं दीं। 

– मोहन थानवी

बीकानेर के नवीन आचार्य ने रचा नवगीत “ये बेटियां”

भारत की बेटियों के लिए नवगीत : बीकानेर के नवीन आचार्य ने रच दिखाया “ये बेटियां” गुलिस्तान

बीकानेर 25/5/17 ( मोहन थानवी )। बेटी बचाओ; बेटी पढ़ाओ का उद्घोष सही मायने में बीकानेर के नवीन आचार्य ने समझा; आत्मसात किया और उस पर रच दिखाया नवगीत “ये बेटियां” गुलिस्तां। इस गीत को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से नवाचार के साथ  बेटियों को समर्पित रहेगा 26/5/15 का दिन; पुष्करणा स्टेडियम बीकानेर में शाम 6 बजे नया सवेरा होगा। बेटियों की महत्ता को नए अंदाज; दिलकश दृश्यों और सरगम की लहरों पर देखा-सुना जा सकेगा। जी; बात संगीत-कला-साहित्य और सामाजिक सरोंकारों के प्रति समर्पित बीकानेर और यहां माटी की सुगंध देश विदेश में फैलाने के जज्बे की करें तो युवा प्रतिभा नवीन आचार्य ने नगर और अपने परिवार की परंपरा को गौरवान्वित करने के लिए कदमताल तेज कर दी है। इस समाज एवं राष्ट्रहित के कार्य में सरकार ने भले ही नवीन और कला व कलाकारों की अनसुनी की हो मगर बीकाणा के लाल ने जुनून क्या होता है यह बता दिया है। और इस कार्य में न केवल राष्ट्रस्तरीय  सात मशहूर युवा कलाकार स्टेडियम में मौजूद रहेंगे बल्कि बड़ी संख्या में बीकानेरियन अपने नवीन आचार्य की हौसलाअफजाई करेंगे। आयोजन में प्रवेश निशुल्क रखा गया है। इस बारे में नवीन ने होटल वृंदावन में संक्षिप्त कार्यक्रम के दौरान अपनी बात साझा की। 

देश में घटना लिंगानुपात सभी के लिए चिंता का विषय है तभी तो केंद्र की मोदी सरकार और राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को लेकर अभियान चलाया जा रहा है लेकिन ये अभियान बीकानेर के जाए जन्मे नवीन आचार्य द्वारा रचे गीत ‘ये बेटियां’ को सरकारी स्तर पर किसी भी प्रकार का सहयोग नहीं मिला। वीडियो गीत शुक्रवार को शाम छह बजे पुष्करणा स्टेडियम में जारी किया जाएगा। गुरुवार को पत्रकार सम्मेलन में नवीन आचार्य ने ख्यातनाम हास्य कलाकार ख्याली, मिथिला पुरोहित के साथ पत्रकारों को बताया कि पुत्र जन्म की कामना की जाती है इतना ही नहीं कन्या जन्म के प्रति बहुत सारी मिथ्या धारणाएं बन चुकी है। जरुरत है कि समाज में बेटियों को बचाया जाए और इस दिशा में हर जागरुक व्यक्ति को अपने स्तर पर प्रयास करना होगा। आचार्य ने यह भी बताया कि उन्होंने बेटी बचाने की मुहिम को आगे बढ़ाने की दिशा में यह पहल की है लेकिन सरकारें भी पहल करती हैं लेकिन उन्हें सरकार की ओर से कोई भी प्रकार का प्रोत्साहन, अनुदान नहीं मिला है, इस बात का उन्हें दु:ख है। उन्होंने बेटी बचाओ मुहिम को जन-जन तक पहुंचाने के गीत लिखा और गाया है। नवीन के अनुसार गीत के वीडियो को देश-दुनिया में फैलाने की उनकी योजना है ताकि बेटी के महत्व को नए नजरिए से समझाया जा सके। कार्यक्रम संयोजक अमित जोशी ने बताया कि  ये बेटियां नामक एलबम एक भावनात्मक लेकिन संदेशपूर्ण गीत है जिसका उद्देश्य समाज में बेटियों के महत्व को दर्शाना है। नवीन आचार्य के लिखे इस गीत में संगीत अमोल-सुमेर डांगी का है। गाने में दूसरी गायक शिवानी जोशी है। गाने की वीडियो शूटिंग लुधियाना, धर्मशाला, मोहाली, शिमला में हुई है। वीडियो निर्देशक सूरज सहवाल और संपादन डी.के.ओझा का है। सह-संपादन सतीर और मंगा ने किया है। पोस्ट-प्रोडक्शन वीरेंद्र चौपड़ा है वहीं प्रोडक्शन मैनेजर स्वर्ण सिंह, प्रोडक्शन हैड ज्योति मान है। उन्होंने यह भी बताया कि वीडियो एलबम लांचिंग कार्यक्रम में युवा सारंगी वादक दिलशाद खान, गायक साहिल सोलंकी, शहजाद अली, जुबेर, तनवीर हुसैन, सुल्तान कार्यक्रम के लिए पहुंच चुके हैं। कल यानि 26 मई को बीकानेर के पुष्करणा ग्राउंड मैदान में ये कलाकार अपनी प्रस्तुति देंगे 

– मोहन थानवी

बीकानेर के अस्पतालों में मरीजों को मिलेगा बेहतर उपचार

मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी,पीबीएम अस्पताल की बैठक में लिए कई निर्णय; जांच शुल्क में नहीं हुई  वृद्धि

बीकानेर,24 मई 2017। संभागीय आयुक्त एवं मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी,पीबीएम अस्पताल के अध्यक्ष  सुवालाल ने कहा कि रोगियों को  बेहतर उपचार मुहैया कराने के लिए राजस्थान मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी के माध्यम से आवश्यक संसाधन सुलभ कराये जायेंगे। साथ ही उपलब्ध संसाधनों का रोगियों को लाभ मिले,इसके लिए चिकित्सक संवेदनशीलता के साथ कार्य करें।

            संभागीय आयुक्त बुधवार को सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के सभागार में राजस्थान मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी,पीबीएम चिकित्सालय की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पीबीएम अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में उपकरणों की उपलब्धता पर चर्चा करते हुए कहा कि ओ.टी में जो भी सुविधा व उपकरण चाहिए,उनके प्रस्ताव तैयार किए जायें।

            बैठक में सदस्यों द्वारा स्टाफ के समय पर अस्पताल नहीं पहुंचने के मामले में उन्होंने मेडिकल कॉलेज प्राचार्य को स्टाफ की उपस्थिति पंजिका का औचक निरीक्षण के निर्देश दिए और कहा कि इसकी कड़ाई से पालना की जाए। इस पर प्राचार्य ने बताया कि मेडिकल कॉलेज और पीबीएम अस्पताल में डाक्टर व कार्मिकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए बायोमेट्रिक मशीन स्थापित की गई और उपस्थिति की प्रतिदिन रिपोर्ट करने के लिए कार्मिक नियुक्त किए गए है। 

            बैठक में सदस्य विजय मोहन जोशी ने पीबीएम में लाईफ सेविंग मेडिकल स्टोर की सेवा को प्रमोट करने तथा ठेकेदार द्वारा नियुक्त कार्मिकों के पीएफ की कटौती नियमानुसार करने पर जोर दिया। सदस्य सलीम भाटी ने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में नियुक्त लिपिक से समय पर काम करवाये जाने का सुझाव दिया। उन्होंने बताया कि अस्पताल परिसर में निगम द्वारा बनवाये जा रहे 2 शुलभ शौचालय की सेवाएं सुचारू चले,इसकी व्यवस्था होनी चाहिए।

          बैठक में सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.आर.पी.अग्रवाल  ने बताया कि सोसायटी ने हद्य रोग विभाग में भामाशाह सहित सभी प्रकार के मरीजों के लिये रोटा एब्लेटर मशीन, कूल पाईन्ट पम्प, टीपीआई यूनिट खरीदने का फैसला लिया गया। उन्हाेंने बताया कि न्यूरोलोजी विभाग के लिये ईंएमजी एवं ईईजी मशीन क्रय करने का प्रस्ताव पारित किया गया ताकि मरीजों को राहत प्रदान की जा सकें। ब्लड बैंक के लिये थ्रोम्बो इलास्टोग्राफ मशीन खरीदने का निर्णय पारित किया गया। उन्होंने बताया कि दंत चिकित्सा विभाग में मरिजों को एक्सरे कराने के लिये पीबीएम स्थित चिकित्सालय में एक्सरे कराने के लिये होने वाली कठनाईयों को कम करने के लिये एक पोर्टेबल एक्सरे मशीन खरीदने का निर्णय लिया। माउथ फ्रेक्चर मरिजों के लिये रूट केनाल के ईलाज हेतु फिलिंग मैटेरियल क्रय करने का निर्णय लेकर मरीजों को राहत दी गयी।

            डॉ.अग्रवाल ने बताया कि भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना एवं बीपीएल मरीजों को अस्पताल से अनुपलब्ध दवाईयॉं हर हाल में स्थानीय बाजार से क्रय कर उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया गया एवं पूर्व में भी अस्पताल प्रशासन द्वारा इन श्रेणी के मरीजों के लिये की गयी दवाईयों की व्यवस्था एवं व्यय पर हुई राशि का अनुमोदन किया गया। उन्होंने बताया कि सदस्य विजय मोहन जोशी ने हद्य रोग अस्पताल, ट्रोमा सेन्टर, यूरोलोजी सेन्टर, नेत्र चिकित्सालय आदि में अलग लाईफ लाईन स्टोर चालू करने की मांग की, जिसे सर्वसम्मति से पारित किया गया।

            उन्होंने बताया कि विभिन्न विभागों द्वारा जॉंच शुल्क बढ़ाने के जो प्रस्तावों दिए थे,उन्हें  खारिज कर दिया गया। हद्य रोग विभाग में आईवीयूएस, एफएफआर, इलेक्ट्रोफिजियोलोजी थ्री डी मैपिंग का शुल्क एस.एम.एस. अस्पताल के शुल्क के समान निर्धारित करने का प्रस्ताव पारित किया गया। उन्हाेंने बताया कि हद्य रोग में ऑटोमेटिक एवं सेमीऑटोमेटिक बैडस् को मूल निर्माता कम्पनी से रिपेयर कराने का निर्णय पारित किया गया।

            इसके अलवा मानसिक रोग विभाग में एम.सी.आई. नाम्र्स के अनुसार आवश्यक पदों को नियमानुसार मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी के माध्यम से उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि मेडिकल आ.सी.यू. हेतु एबीजी मशीन क्रय करने का निर्णय लिया गया। धूड़ीबाई धर्मशाला में दुकान के मूल आबंटियों को किराये बढ़ाये जाने हेतु नोटिस देने का निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में ए व डबल्यू कॉटेज सार्वजनिक निर्माण विभाग से रिपेयर कराने का प्रस्ताव पारित करने ,नाक-कान-गला विभाग में ऑडियोलोजिस्ट तथा हद्य रोग विभाग में फिजियोथैरेपिस्ट नियमानुसार उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया गया तथा निश्चेतन विभाग की मांग के अनुरूप 100 ऑक्सीजन सिलेण्डर 220 सीएफटी के क्रय की स्वीकृति प्रदान की गयी।

             बैठक में सदस्यों द्वारा डॉ. अजय कपूर, उप अधीक्षक का मरीजों, मरीजों के रिश्तेदार एवं अन्य स्टॉफ के साथ व्यवहार के बारे में आपत्ति दर्ज की गयी। सोसायटी अध्यक्ष एवं संभागीय आयुक्त ने उपस्थित समस्त सदस्यों से विचार विमर्श के बाद डॉ. अजय कूपर का पदस्थापन जिला सेटेलाईट अस्पताल में करने का निर्णय लिया ।

            उन्होंने बताया कि भण्डार के दवाईयों के पेटे बकाया भुगतान के बारे पॉंच सदस्सीय नयी कमेटी गठित करने का निर्णय लिया गया है। यह कमेटी एक माह में अपनी रिपोर्ट सोसायटी सचिव को प्रस्तुत करेगी। उन्होंने बताया कि अस्पताल परिसर में 3 नयी केन्टीन का निर्माण सोसायटी के द्वारा सार्वजनिक निर्माण विभाग के माध्यम से करवाकर उसे प्रारंभ किया जायेगा।

            बैठक में पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक डा.प्रमोद कुमार बेरवाल,डॉ.एल.ए.गौरी,डॉ.वीर बहादुर सिंह,उप अधीक्षक डॉ.के.के.मिश्रा,डॉ.रंजन माथुर,डॉ.श्रीगोपाल गोयल,वित्त नियंत्रक मेडिकल कॉलेज वाई.के.सिंह व वरिष्ठ लेखाधिकारी पवन कस्वां उपस्थित थे। 

– मोहन थानवी             


                                    
 

बीकानेरी भुजिया पर 12%  जीएसटी का “हथौड़ा”

बीकानेर 24/5/17 ( मोहन थानवी ) ।  मरुभूमि की खास उपज “मोठ” से बनी बीकानेरी भुजिया का विकसित होता बाजार केन्द्र सरकार के वित्तीय सलाहकारों को राजस्व प्राप्ति का बड़ा माध्यम लगने लगा है तभी इसकी विकासमान गति को अवरुद्ध करने जैसी कर-योजना के नाम पर 12% जीएसटी का “हथौड़ा” चला दिया गया है। इस हथौड़े की मार मोठ की खेती करने वाले किसान पर भी पड़ेगी क्योंकि मोठ का उपयोग भारी मात्रा में भुजिया बनाने पर होता है। जबकि जीएसटी कर निर्धारण की खामियां बीकानेरी मोठ भुजिया के छोटे व्यवसायियों को तुरंत और बड़े व्कोयवसायियों को शनै: शनै: मोठ से बनने वाली भुजिया और इसके व्यवसाय से पीछे धकेलने का काम करेंगी। ऐसे रोष भरे स्वर उन “परिश्रमी-कंठों” से निकले जिन कंठों के धारक खालिस मोठ से भुजिया बना-बना कर बीते दशकों से बीकानेर को भुजियानगरी के रूप में विश्वस्तर तक प्रसिद्धि दिला चुके हैं। यह रोष 24/5/17 को यहां भोमियाजी भवन रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र में तब फूटा जब बीकानेर के भुजिया, नमकीन व चबेना को 12 प्रतिशत कर दायरे में लिए जाने के विरोध में बीकानेर पापड़-भुजिया मैन्यूफेक्चरिंग एसोसिएशन ने संबद्ध संगठनों के प्रतिनिधियों सहित पत्रकारों के समक्ष भुजिया व्यवसाय की परेशानियां साझा की। दरअसल संगठन ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और जीएसी परिषद को ज्ञापन के माध्यम से कहा है कि मरुस्थलीय क्षेत्र के लाखों किसान, गरीब व मजदूरों की रोजी-रोटी से जुड़े खाद्य पदार्थ भुजिया, नमकीन व चबेना को जीएसटी के 5 प्रतिशत कर दायरे में रखी जाए क्योंकि 12% कर लागू हो गया तो न केवल इस व्यवसाय के विकास मार्ग पर बाधा उत्पन्न होगी वरन् बड़ी संख्या में भुजिया श्रमिक और उनके परिवार पीड़ित-प्रभावित होंगे। 

इस मौके पर अपनी बात कहने वालों में ये उद्यमी शामिल हुए – बीकाजी समूह के प्रबन्ध निदेशक, बीकानेर व्यापार उद्योग मण्डल के अध्यक्ष शिवरतन अग्रवाल, बीकानेर पापड़-भुजिया मैन्यूफैक्चर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष गेवरचन्द मुसरफ, महामंत्री मक्खनलाल अग्रवाल, मण्डल के सचिव के.एल.बोथरा, कोषाध्यक्ष घनश्याम लखाणी, नरपत सेठिया, वेदप्रकाश अग्रवाल ‘प्रेमजी’; एस एल हर्भुष । 

बीकानेरी मोठ भुजिया का स्वाद लिए है बाकी भुजिया से अलग — 

भुजिया मोठ के बेसन से ही बनता है और अधिकांश मोठ मरुभूमि के असिंचित भू-भाग में ही पैदा होती है। 

पहले भी हो चुकी भुजिया पर नजरें टेढ़ी — 

 पूर्व में भी 1989 व 1998 में केंद्र सरकार ने मरुभूमि के इन खाद्य पदार्थों पर उत्पाद कर लगाया था जिसे विरोध के बाद तुरंत ही वापस ले लिया था। मक्खनलाल अग्रवाल ने बताया कि बीकानेरी भुजिया व नमकीन की खपत के कारण ही किसानों को मोठ के वाजिब दाम मिल रहे हैं। अगर इन पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगा दिया गया तो पहले से ही बहुराष्ट्रीय कम्पनियों से प्रतिस्पद्र्धा झेल रही बीकानेर की भुजिया व नमकीन उत्पाद इकाईयां बंद होने के कगार पर आ जाएगी जिससे औद्योगिक दृष्टि से पिछड़े इलाके में लाखों किसानों व मजदूरों के समक्ष रोटी-रोटी के संकट पैदा हो जाएंगे। उन्होंने जेटली व जीएसी परिषद से आग्रह किया है कि थार मरुस्थल के लाखों किसानों, गरीबों, मजदूरों, छोटे व लघु उद्यमियों के हितों को ध्यान में रखते हुए पूववर्ती सरकारों ने जिन उत्पादों को उत्पाद कर से मुक्त रखा, उन्हें जीएसटी के 5 प्रतिशत कर दायरे में रखकर क्षेत्र के आमजन को राहत प्रदान करें। मुसरफ ने जेटली से अनुरोध किया कि भौगौलिक विषम परिस्थितियों में कुटीर व लघु स्तर पर भुजिया और नमकीन का उत्पाद कर रहे सैकड़ों छोटे मझौले उद्योग बंद होने की कगार पर आ जाएंगे।

– मोहन थानवी

​अविनाश जोशी बने चूरू जिला समन्वयक, 

प्रदेश भाजपा की ओर से पहले चरण में संगठन की दृष्टि से चौदह जिलों में प्रभारी नियुक्त गए हैं

बीकानेर, 22 मई 2017।  भाजपा आईटी विभाग के प्रदेश संयोजक तथा भाजपा विस्तारक मास्टर ट्रेनर अविनाश जोशी को पंडित दीनदयाल उपाध्याय कार्य विस्तार योजना के तहत चूरू जिले का जिला समन्वयक नियुक्त किया गया है। 

जोशी 31 मई तक चूरू के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में बूथ विस्तारकों को प्रशिक्षण देंगे। इस दौरान बूथ विस्तारकों द्वारा किए जाने वाले कार्यों, बूथ एवं चुनाव प्रबंधन, भाजपा के इतिहास एवं विकास तथा राज्य एवं केन्द्र सरकार की उपलब्धियों से संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रदेश भाजपा द्वारा इस कार्य के लिए प्रदेश के मंत्रियों, सांसदों, प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों का चयन मास्टर ट्रेनर के रूप में किया गया। इन मास्टर टेªनर्स को 20 मई को जयपुर स्थित प्रदेश कार्यालय में प्रशिक्षण दिया गया तथा जिलों में भाजपा की रीति-नीति पहुंचाने सहित चुनावी रणनीति तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई। 

इसी श्रृंखला में भाजपा के प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा द्वारा सोमवार को जारी आदेशों के अनुसार जोशी के अलावा ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री राजेन्द्र राठौड़ को जयपुर शहर, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिता भदेल को नागौर, शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी को डूंगरपुर, उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी को पाली, चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ को कोटा शहर एवं देहात का जिला समन्वयक नियुक्त किया गया है। 

जोशी ने बताया कि चूरू जिले की छह विधानसभा क्षेत्रों में दो-दो विधानसभा के समूहों में बूथ विस्तारक प्रशिक्षण वर्ग आयोजित किया जाएगा। चूरू के प्रभारी मंत्री वासुदेव देवनानी, जिला संगठन प्रभारी ओ. पी. महेन्द्रा तथा चूरू जिले के भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. वासुदेव चावला से समन्वय स्थापित कर प्रशिक्षण वर्ग का कार्यक्रम शीघ्र ही निर्धारित किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि जोशी ने भाजपा के सदस्यता अभियान के बीकानेर जिला तथा संभाग संयोजक, महासंपर्क अभियान के प्रदेश प्रभारी तथा प्रदेश आईटी सेल के प्रदेश संयोजक रह चुके हैं। वे पंडित दीनदयाल उपाध्याय महाप्रशिक्षण अभियान में प्रदेश वक्ता रह चुके हैं। वर्तमान में आईटी विभाग के प्रदेश प्रमुख के रूप में आईटी के माध्यम से भाजपा की योजनाओं एवं उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। 

– मोहन थानवी