Watch “Bikaner me Bhari Barish fish eye video me/ text 📰 जिला कलेक्टर ने किया अवलोकन” on YouTube

जिला कलक्टर ने किया शहरी क्षेत्र का अवलोकन
जल निकासी की त्वरित कार्यवाही के दिए निर्देश, विभिन्न अधिकारी रहे साथ
बीकानेर, 22 जुलाई। जिला कलक्टर डाॅ. एन. के. गुप्ता ने रविवार को शहर के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा करते हुए जल भराव की स्थिति का जायजा लिया तथा अधिकारियों को त्वरित कार्यवाही के लिए निर्देशित किया।
जिला कलक्टर ने ढोला मारू होटल के पास, पंचशती सर्किल, जयपुर रोड, पीबीएम अस्पताल, जूनागढ़ के पीछे, सूरसागर, केइएम रोड, करणी चारण छात्रावास तथा जयनारायण व्यास काॅलोनी के सैक्टर 4 सहित विभिन्न स्थानों का मुआयना किया। इस दौरान नगर निगम आयुक्त प्रदीप गावंडे, अतिरिक्त कलक्टर (नगर) शैलेन्द्र देवड़ा, नगर विकास न्यास सचिव राष्ट्रदीप यादव, न्यास के अभियंता ओमप्रकाश गोदारा भी साथ थे। जिला कलक्टर ने अतिरिक्त संसाधनों का उपयोग करते हुए जल की निकासी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारी पूर्णतया अलर्ट रहें तथा किसी प्रकार की सूचना पर त्वरित कार्यवाही हो।
काॅर्डियो वस्कुलर सेंटर का किया अवलोकन
जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका तथा उपमहापौर अशोक आचार्य के साथ हल्दीराम मूलचंद कार्डियो वस्कुलर सेंटर का अवलोकन किया। कार्डियो वस्कुलर सेंटर के बेसमेंट में जमा पानी को निकालने के लिए कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इस दौरान राजेन्द्र शर्मा, मोहम्मद ताहिर, पंकज गहलोत भी मौजूद थे। उन्होंने पाॅलिटेक्निक काॅलेज मैदान का अवलोकन किया तथा राजस्थान डिजिफेस्ट आयोजन स्थल का जायजा लिया। इससे पहले जिला कलक्टर ने विभिन्न अधिकारियों के साथ बैठक ली तथा ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा सुजानदेसर, किश्मीदेसर, वल्लभ गार्डन क्षेत्रों में पानी भराव तथा निकासी की कार्यवाही की जानकारी ली।
—–
Advertisements

बारिश ने कर दिया पीबीएम हॉस्पिटल को बेहाल

खबरों में बीकानेर 🎤 जनाना अस्पताल के रैंप तक वाहन नहीं जाने दिए जाते, चलती है गार्ड की मर्जी

बीकानेर 21/7/🔞 । संभाग का सबसे बड़े अस्पताल पीबीएम अस्पताल बारिश के असर से बेहाल हो गया। शनिवार 21 जुलाई 2018 की शाम को करीब 30-35 मिनट तक जोरदार बारिश हुई और उसके बाद देर रात तक रिमझिम चालू रही । शहर के विभिन्न इलाकों में तो पानी भरा ही निचले इलाकों में बस्तियों में भी काफी परेशानी का सामना लोगों को करना पड़ा । साथ ही पी बी एम अस्पताल के भवन के अंदर भी बरसात का पानी जाने से मरीजों और मरीजों के परिजनों के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ को भी परेशानी झेलनी पड़ी। अस्पताल की दीवारों से पानी चूने लगा, जहां वायरिंग खुली पड़ी है। कुछ जगह वायरिंग लटकी हुई है । यह सब परेशानी का सामना इसलिए करना पड़ा के अस्पताल भवन की देख रेख में कहीं ना कहीं कमी रही है। सबसे अधिक परेशानी वार्ड में भर्ती मरीजों और उनके साथ परिजनों को हुई। बरसात के कारण परिसर में भी पानी भर गया और सफाई नहीं होने की वजह से काफी जगह जमा कचरे के ढेर से दुर्गंध फैली। उमस और दुर्गंध के कारण पूरा अस्पताल भवन और परिसर दूषित वातावरण वाला बन गया । इस परेशानी को केवल मरीज के परिजन ही नहीं भुगत रहे बल्कि स्वास्थ्य विभाग का स्टाफ भी इस परेशानी को झेलने के लिए विवश है ।

रैम्प तक वाहन में मरीज को नहीं जाने देते गार्ड

अस्पताल परिसर में एक और बड़ी परेशानी का सामना मरीजों के परिजनों को करना पड़ता है और वजह है अस्पताल परिसर में वाहन स्टैंड । वाहनों को खड़ा करने के लिए स्टैंड बने हुए हैं जो ठेके पर दिए गए हैं। ठेकेदार के कार्यकर्ता कर्मचारी वाहनों को बाकायदा अपने स्टैंड में खड़ा करने के लिए सेवाएं देते हैं लेकिन स्टैंड की आड़ में जनाना अस्पताल भवन तक अति आवश्यक रूप से वाहन पर बैठे हुए मरीज अथवा परिजनों को भी जाने से रोका जाता है। केवल स्टाफ की गाड़ियां भवन तक जाती है। जबकि अस्पताल में जाने के लिए रैंप तक मरीज को पहुंचाने वाहन को अंदर जाना हो तो बैरियर पर तैनात गार्ड अथवा चौकीदार अथवा वाहन स्टैंड से संबंधित कोई व्यक्ति रोक लेता है, आसानी से जाने नहीं देता ।
. ✍️ मोहन थानवी

(. सभी फोटो साभार श्री जे एन बिस्सा सीनियर जर्नलिस्ट, X चेयरमैन बीकानेर प्रेस क्लब. )

चौतीना कुआं व्यास कुटुम्ब ने बीकानेरी स्वाद को पर्यटकों के लिए किया सुलभ, भा फूड एंड केटर्स का शुभारम्भ 

खबरों में बीकानेर 🎤 चौतीना कुआं व्यास कुटुम्ब ने बीकानेरी स्वाद को पर्यटकों के लिए किया सुलभ

बीकानेर। चौतीना कुआं निवासी व्यास कुटुंब ने बीकानेर भ्रमण के लिए अनिवार्य रूप से सार्दुल सिंह सर्किल से गुजरने वाले देशी विदेशी पर्यटकों को बीकानेरी स्वाद के पकवान व्यंजन और अधिक सुलभता से मुहैया करवा दिए हैं । बीकानेर आने वाले पर्यटक जूनागढ़ जरूर पहुंचते हैं। शनिवार को चौतीना कुआं के समीप भा फूड एंड केटर्स का शुभारम्भ नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका, जोधपुर हाइकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता जे.एल. पुरोहित तथा उपमहापौर अशोक आचार्य ने किया। रेस्टोरेंट के संचालक सुनील व्यास ने बताया कि हमारे यहां बीकानेरी सात्विक पकवान-व्यंजन राजस्थानी, विशेष रूप से बीकानेरी आन-बान-शान और आवभगत के साथ बीकानेर के परिवारों और पर्यटकों को परोसे जाने का खास अंदाज सभी को लुभाएगा। साथ ही फास्टफूड, देशी भोजन, थाली सिस्टम तथा भोजन पैक करके देने की सुविधा उपलब्ध है। व्यास ने बताया कि स्वाद के साथ-साथ स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाता है। शुभारम्भ अवसर पर जनार्दन कल्ला, रामकुमार व्यास, विनोद व्यास, राजीव पुरोहित, राजेन्द्र व्यास, भूपेन्द्र व्यास, बलदेव व्यास, कमल थानवी, देव थानवी, श्लोक मिढ्ढ़ा सहित अनेक गणमान्यजन उपस्थित रहे। सभी का स्वागत चौतीना कुआं व्यास कुटुम्ब के वरिष्ठजनों ने किया।

. ✍️ मोहन थानवी

चूहों वाली माता के मंदिर की गौशाला में नौ दिन गाएंगे गुरु-गोविंद

खबरों में बीकानेर

चूहों वाली माता के मंदिर की गौशाला में नौ दिन गाएंगे गुरु-गोविंद

बीकानेर 19/7/🔞 । विश्व विख्यात श्रीकरणी माता मंदिर जिसे चूहों वाली देवी का मंदिर भी कहा जाता है इस मंदिर के प्रन्यास व देशनोक के गौसेवकों के तत्वावधान में बाल संत गुरु गोविंद कथा का नौ दिवसीय आयोजन 20 जुलाई शुक्रवार को प्रात: 10 बजे करणी माता मंदिर से कलश यात्रा के साथ श्री करणी गौशाला में शुभारम्भ करेंगे। गौशाला परिसर में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में ग्वालियर में हूं यह जानकारी दी तथा बताया कि नौ दिनों तक धर्मनगर देशनोक की धरा पर आरती, हवन योग शिविर, वेदान्त प्रवचन, चिकित्सा शिविर जैसे पुण्यदायी अनुष्ठानों का लाभ उठाने का अवसर आस-पास के गांवों के श्रद्धालुओं को मिलेगा। प्रतिदिन 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक गो-गुरु-गोविन्द कथा का आयोजन होगा। व्रत करने वाले श्रद्धालुओं के लिए रोजाना भोजन प्रसादी, गुरु दीक्षा, विशेष सत्संग एवं भजन तथा जागरण, सुन्दरकांड पाठ आदि धार्मिक अनुष्ठान होंगे। महागुरु पूजन 27 जुलाई को तथा संन्यास एवं उत्तराधिकार चादर ओढ़ाई का आयोजन 28 जुलाई को होगा। 20 जुलाई को कथा का धेनू चैनल व आस्था भजन चैनल पर भी दोपहर 11 से 3 बजे तक सीधा प्रसारण होगा। आसपास के गांवों से श्रद्धालुओं के करणी गौशाला कथा स्थल तक लाने ले जाने के लिए गांव के ही गौ भक्तों ने बसों की व्यवस्था की है। ग्वाल संत ने कहा कि गाय केवल दूध देने वाला पशु नहीं बल्कि हमारी माता है। पंचगव्य के साथ-साथ गाय का सान्निध्य भी देवकृपा-तुल्य है।

पूरे भारत में 31 वर्ष तक पदयात्रा से करेंगे गौसेवा का आह्वान

ग्वाल संत गोरक्षा के संदेश को देने के लिए 31 वर्षों तक पैदल चलकर पूरे भारत में पहुंचेंगे। इस संकल्प की पूर्ति के लिए वे करीब पौने छह साल से पदयात्रा कर रहे है। अभी तक 48 हजार किमी की पैदल यात्रा नंगे पांव करते हुए 9900 गांवों, कस्बों, शहरों में गौसेवा की अलख जगाई है। हर वर्ष गुरु पूर्णिमा को दो दिन का विराम लेते हैं और इन पौने छह वर्षों में देशनोक ही ऐसा स्थान है जहां नौ दिवस रुक कर गो-गुरु-गोविन्द कथा का आयोजन कर रहे हैं।

-✍️ मोहन थानवी

नंदी गौशाला घोषणा है घोषणाओं का क्या, ग्वाल संत ने जताया क्षोभ

खबरों में बीकानेर

-✍️ मोहन थानवी

बीकानेर 19 जुलाई 2018 । देशनोक में गौ गुरु गोविंद पूर्णिमा महोत्सव के तहत गौ कथा करने पहुंचे पदयात्री ग्वाल संत ने क्षोभ प्रकट किया कि. निराश्रित पशुओं को लेकर राजनीतिक दल आंदोलन के नाम पर लोगों की भावनाओं से खेलते हैं हालांकि ऐसे आंदोलनों की प्रभाव से सरकार ने नंदी गौशाला संबंधी घोषणा की लेकिन घोषणाओं को जब तक मूर्त रूप नहीं मिलता तब तक घोषणाओं का क्या औचित्य। ग्वाल संत ने एक सवाल के जवाब में कहा उनके गौ संरक्षण को लेकर 31 वर्ष के संकल्प के साथ 6 वर्ष से निकली पदयात्रा के लिए किसी भी राजनीतिक दल ने उनसे कोई संपर्क नहीं किया और ना ही वह स्वयं ऐसा चाहते हैं कि राजनीतिक सहयोग मिलें लेकिन राजनीति से जुड़े लोगों का यह कर्तव्य है कि भारतीय संस्कृति के मूल में रही गौ माता को उसका उचित दर्जा फिर से दिलवाने के प्रयासों में सहयोग करें बल्कि अपनी ओर से पहल करके घर घर गाय की भारतीय पुरातन परंपरा को पुनर्जीवित करें।

-✍️ मोहन थानवी