यूथ कांग्रेस एक्शन में; मोदी का पुतला फूंक कर कहा – बीएचयू कुलपति को हटाओ

*खबरों में बीकानेर* /

बीकानेर 27 सितम्बर 2017 । बीकानेर यूथ कांग्रेस फुल एक्शन में दिख रही है। बनारस हिन्दु विश्वविधालय में आन्दोलनरत छात्राओं पर शनिवार को हुए लाठीचार्ज के विरूद्ध कोटगेट से लेकर केईएम रोड स्थित प्रेम जी पॉइंट तक यूथ कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला व तख्तियां लेकर पैदल मार्च किया उसके बाद में मोदी का पुतला फूंककर विरोध प्रदर्शन किया गया।
लोकसभा यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बिशनाराम सियाग के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन में मुख्य रूप से बी.एच.यू. के कुलपति को हटाने की मांग की गई।
इस अवसर पर लोकसभा यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बिशनाराम सियाग ने कहा कि बी.एच.यू. में छात्रोंओं के हॉस्टल में आए दिन एेसी छेडछाड की धटनाओं का होना आम बात हो गई थी।
परेशान छात्राओं ने समय-समय पर विश्वविधालय में शिकायत की लेकिन उन्होने दोषी सिरफिरों पर कोई कार्यवाही नही की इससे परेशान छात्राओं ने शान्तिपूर्वक आन्दोलन किया तो उन पर लाठी चार्ज करवा दिया। यूथ कांग्रेस बी.एच.यू. के कुलपति को तुंरत हटाने की मांग की करती है।
इस अवसर पर शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत ने कहा कि बी.एच.यू. में न्याय की मांग कर रही छात्रांओं पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज करना भाजपा का ‘‘बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओं‘‘ का नारा बकवास नजर आता है। जिया उरमान ने कहा कि बी.एच.यू. में छात्रांओं ने जब न्याय की मांग को लेकर प्रदर्शन किया तो वहा के कुलपति ने उनकां राष्ट्र विरोधी करार दे दिया जो कि बहुत ही निन्दनीय है।
नगर निगम नेता प्रतिपक्ष जावेद पडिहार ने कहा कि जब से केन्द्र में भाजपा की सरकार आई है तब से पुरे देश में छात्रांओं पर अत्याचार बढ़ा गया है।
ये थे मौजूद :-
आनन्द जोशी, पार्षद नन्दलाल जावा, एनएसयूआई के पूर्व अध्यक्ष शिवराज गोदारा, अरूण व्यास, आजम अली, किशनलाल इणाखिया, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनिता गौड़, रमजान कच्छवा, अम्बाराम इणाखिया, ललित तेजस्वी, नवनीत आचार्य, पार्षद मनोज नायक, तोलाराम सियाग, मगन महाराज सीताराम नायक अभिषेक पंवार, रामपुरिया कॉलेज छात्रसंध अध्यक्ष सोनवीरसिंह, जैन कॉलेज अध्यक्ष वरूण वारासा, सुमित कोचर कुलदीप विशनोई, विक्रम स्वामी, सुन्दर बैरड़, नितिन वत्स, मनोज सियाग, निकिता बाना, पूनमचन्द भाम्भू, मनोज कुमार, महेन्द्र कूकणा, ओमप्रकाश जाखड, श्रीकिसन गोदारा, धनराज गोदारा, मानसिंह ताखर, बजरंग सायच, सोहन चोधरी, मदन सियाग, राहुल जादूसगत मेक्स नायक, शिवरतन, सहीराम सारण,, मागीलाल खीचड़, श्योप्त सारण, आशा स्वामी, लेखराम धतरवाल, सुनिल सारस्वत, जेठाराम, रितेश सेवग, मुकेश चौधरी, रामचन्द्र, सगम चौपडा, मदनलाल भाम्भू, प्रमोद, भोजराज, रेंणु विशनोई, उषा राठौड़, रेखा, ममता शर्मा, गायत्री, अन्जू, करण, रामचन्द्र गहलोत, सुनिल, अब्दुल रहमान लोदरा, भीमसेन खिलेरी, श्रवणराम, नितिन जैन, लोकेन्द्रसिंह, कमला विशनोई, गोपीराम बिशनोई, तनवीर बिशनोई, रधुवीरसिंह, सीताराम डूडी,सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसजन मौजूद रहे।
– मोहन थानवी

Advertisements

दो करोड़ से हुए गंगा राजकीय संग्रहालय के विकास और पुनरुद्धार कार्य

*खबरों में बीकानेर* /

बीकानेर, 27 सितम्बर 2017। विश्व पर्यटन दिवस पर बीकानेर पूर्व विधान सभा क्षेत्र विधायक सिद्धि कुमारी ने गंगा राजकीय संग्रहालय के विकास एवं पुनरूद्धार कार्य का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री बजट घोषणा के तहत गंगा राजकीय संग्रहालय का पुरा सामग्री के संरक्षित एवं कला सामग्री का रासायनिक उपचार का कार्य किया गयाहै। विधायक ने संग्रहालय के विकास एवं पुनरूद्धार के दौरान नवीन दीर्घाआें में हुए कार्यों का निरीक्षण किया और इनकी सराहना की। उन्होंने संग्रहालय के भूतल पर तत्कालीन महाराजा गंगासिंह के जीवन से संबंधित विश्व प्रसिद्ध चित्राकार ए.एच.मूलर के तैलचित्र एवं उनकी राईफल, सैन्य कोट इत्यादि, जो शाही परिवार का हिस्सा होती थी, उनको करीने से सजाने पर विभागीय अधिकारियों की सराहना की। उन्होंने बीकानेर के तत्कालीन राजाओं से संबंधित विभिन्न अस्त्र-शस्त्रों के अवलोकन के बाद कहा कि ये उस जमाने में हुए युद्धों का आभास कराते हैं। संग्रहालय में लघुचित्रों की नवीन दीर्घा में बीकानेर शैली के बारहमासा
ीर्घा में बीकानेर क्षेत्र से प्राप्त 5000 वर्ष प्राचीन सैन्धवकालीन संस्कृति से लेकर 20 वीं शताब्दी के प्रारंभिक काल तक की प्रदर्शित मूर्तियों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने भारतीय इतिहास के छठी शताब्दी ई.से 20 वीं शताब्दी मध्य तक के सिक्कों, जिनमें जहाॅगीर द्वारा जारी राशिचिन्ह का सिक्का, मेवाड़, कच्छ तथा कुछ और क्षेत्रीय राज्य यथा डोगरा,मराठा तथा आसाम आदि के सिक्कों का अवलोकन किया और इनके बारे में जानकारी हासिल की। उन्हाेंने सार्वजनिक पुस्तकालय का भी अवलोकन किया। इस अवसर पर गंगा संग्रहालय का अवलोकन पहुंची छात्राओं से उन्होंने विश्व पर्यटन दिवस पर एतिहासिक घटनाओं और दर्शनीय स्थलों पर चर्चा की।
पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के निदेशक हरेश कुमार शर्मा ने बताया कि करीब 2 करोड़ रूपये खर्च कर म्यूजियम को नया स्वरूप दिया गया है। इस अवसर पर म्यूजियम के कार्यवाहक अधीक्षक निरंजन पुरोहित, पर्यटन विभाग की सहायक निदेशक भारती नथानी, पूर्व पार्षद उम्मेद सिंह, सहायक पर्यटन अधिकारी तरूणा शेखावत, सुधीर व्यास सहित बड़ी संख्या में सैलानी उपस्थित थे।
इससे पहले सिद्धि कुमारी ने पूर्व महाराजा गंगासिंह जी की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्वलित किया और विकास कार्यों की शिलापट्टिका का अनावरण किया।
– मोहन थानवी

संवेदनशील बनने की सीख; दिव्यांग प्रमाणीकरण शिविर

*खबरों में बीकानेर* /

पंजीकरण के बाद अब निःशक्तता प्रमाणीकरण शिविरों का दौर; काफी लोग निराश लौटे

बीकानेर, 27 सितम्बर 2017। जिसे दिखाई नहीं देता; जिससे सीधे खड़े होकर चला नहीं जाता; जो बोलने- सुनने में असमर्थ है उसे भी प्रमाणीकरण की प्रक्रिया से गुजरने की मजबूरी है। वह भी शिविरों के दौर के बावजूद। पीबीएम अस्पताल के पीएमआर विभाग परिसर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन शिविर के तहत आज निःशक्तता प्रमाणीकरण शिविर लगाया गया। इससे पहले निशक्तजनों का चिन्हीकरण व पंजीकरण शिविर लगाए गए थे; यह कार्य अब भी जारी रहेगा । आज शिविर में पहुंचे काफी लोगों को निराश लौटना पड़ा क्योंकि उन्हें आंख; नाक-कान; अस्थिरोग आदि संबंधित विभागों में अन्य कार्यदिवसों में सुबह 10 से 12 बजे तक प्रमाणीकरण के लिए पहुंचने को कहा गया। जबकि मंच से संवेदनशील होकर दिव्यांगों की सहायता करने की बातें की जा रही थी। समारोह में बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र विधायक डॉ. गोपाल जोशी ने कहा कि सभी दिव्यांगों को विशेष योग्यजन शिविरों का लाभ मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने कहा कि जिले में 1 जून से दिव्यांगों के चिन्हीकरण व पंजीयन का कार्य किया जा रहा है व अब तक लगभग 24 हजार दिव्यांगों का पंजीयन किया गया है। उन्हें भारत सरकार द्वारा जारी यूनिक डिसएबिलिटी आईडी कार्ड दिया जाएगा, जिससे उन्हें समस्त योजनाओं का लाभ मिल सकेगा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एल डी पंवार ने बताया कि इसके तहत द्वितीय चरण में 12 दिसम्बर तक विधानसभावार निःशक्तता प्रमाणीकरण शिविर व 13 दिसम्बर से 31 मार्च 2018 तक कैम्प आयोजित कर दिव्यांगों को कृत्रिम अंग व सहायक उपकरण वितरित किए जाएंगे। महापौर नारायण चौपड़ा व बाल कल्याण समिति अध्यक्ष वाई के शर्मा ने भी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने धन्यवाद ज्ञापित किया व कार्यक्रम संचालन भीष्म कौशिक ने किया। सेवाश्रम के विशेष बच्चों ने नृत्य प्रस्तुत किया।

इतने बड़े शिविर के दौरान 16 दिव्यांगों को निःशक्तता प्रमाणपत्र, 4 दिव्यांगों को ट्राईसाइकिल व 2 को व्हीलचेयर प्रदान की गईं।

इस अवसर पर पीबीएम अस्पताल अधीक्षक डॉ. पी के बेरवाल, रामेश्वर विश्नोई, गोकुल जोशी, एसएसओ ज्योत्सना बारूपाल, सुरेन्द्र कुमार व नरेश राजपुरोहित, डॉ. रजनीश शर्मा, मोहनलाल प्रजापत सहित संबंधित विभागों के चिकित्सक उपस्थित थे।

– मोहन थानवी

निशुल्क दवा योजना कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ ने कहा – पीएचएस का बयान बेतुका

*खबरों में बीकानेर* /

निःशुल्क दवा योजना कम्प्यूटर आॅपरेटर महासंघ ने पीएचएस के कथित बयान को बेतुका करार दिया

बीकानेर/जयपुर।
अखिल राजस्थान मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना कम्प्यूटर आॅपरेटर महासंघ ने पीएचएस के सोमवार को दिए कथित बयान को बेतुका करार दिया है। महासंघ के प्रदेश प्रचार मंत्री विनय थानवी के अनुसार सोमवार को जब शासन उप सचिव ओर महासंघ के प्रतिनिधि मंडल के बीच वार्ता के दौरान सहमति नहीं बनी तो इसकी जानकारी वीणु गुप्ता को दी व उनसे आग्रह किया कि महासंघ की जायज मांगों की पूर्ति के लिए विभाग द्वारा प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को अग्रेषित करे ताकि सरकार युवाओं के भविष्य को लेकर सकारात्मक निर्णय ले सके इस पर श्रीमती वीणु गुप्ता ने महासंघ के लीडर्स को कहा कि आप लोगों को सारा काम करना पडेगा आपकी मांगे जायज नहीं है और हडताल करते हो तो दुसरे आॅपरेटर लगा लिए जाएगें बहुत मिलते हैं डिग्रीधारी बेरोजगार युवा।

महासंघ के प्रचार मंत्री थानवी का आरोप है कि राजस्थान सरकार के चिकित्सा विभाग में इन दिनों उच्च पदों पर आसीन अधिकारियों द्वारा अपने विभाग के ही विभिन्न संवर्गों के तहत स्थायी व अस्थायी रूप से कार्यरत कर्मचारियों की मांगों को गलत ठहराया जाता है। थानवी ने बताया कि इसको लेकर अपने अधिकारियों के प्रति कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है चाहे सेवारत चिकित्सक हो, लैब टेक्निशियन हो, एनआरएचएम कार्मिक हो अथवा एमएनडीवाई आॅपरेटर्स।

यह मामला मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना में प्रदेश भर में कार्यरत 3764 मशीन विद मैन आॅपरेटर्स की मांगों पर विचार विमर्श करने को लेकर चिकित्सा विभाग ग्रुप-2 शासन उप सचिव पारसचंद जैन के साथ सोमवार को आयोजित हुई एक बैठक के दौरान असहमति बनने पर चिकित्सा विभाग की प्रमुख शासन सचिव द्वारा दिये गये बयान का है। जिसे महासंघ ने बेतुका करार दिया है।
यह भी उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा वितरण योजना के तहत लगे मशीन विद मैन आॅपरेटरर्स अपने कत्र्तव्य स्थान के साथ साथ ई उपकरण, ई-साधन, ओजस, पीसीपीटीएस, निश्चय, ई-पहचान, ई लैब, आशा साॅफ्ट, एचएमआईएस, कायाकल्प आदि अन्या जनकल्याणकारी योजनाओ के तहत संचालित होने वाले आॅनलाइन साॅफ्टवेयर में बिना किसी अतिरिक्त पारिश्रमिक लिए कार्य कर रहे है।

एमएनडीवाई महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष वैशाली श्रीवास्तव ने पीएचएस द्वारा किये गये इस तरीके के बर्ताव की कडी निंदा करते हुए कहा कि जहां एक तरफ देश के प्रधानमंत्री अपने आप को जनता का सेवक मानता है वहीं दुसरी तरफ प्रदेश के चिकित्सा विभाग में सर्वोच्च पद पर आसीन वरीष्ठ आईएएस अधिकारी द्वारा अल्पवेतन भोगी मध्यमवर्गीय कार्मिकों को अधिकारों की लडाई लडने पर निकाल देने की चेतावनी देना लोकतांत्रिक व्यवस्था के तहत दुर्भाग्यपूर्ण है ।

ये रहे प्रतिनिधि मंडल में शामिल
प्रदेशाध्यक्ष वैशाली श्रीवास्तव, संरक्षक नरेन्द्र वैष्णव, प्रदेश प्रचार मंत्री विनय थानवी, बांसवाडा जिलाध्यक्ष प्रशांत आचार्य, विकास जायसवाल, अनिल वर्मा।

महासंघ की प्रमुख मांगेंः-
मशीन विद मैन पद नाम बदलकर डेटा एंट्री आॅपरेटर में समायोजित करना।
सुराज संकल्प पत्र में सरकार द्वारा किये हुए वादे के अनुसार नियमितिकरण की नीति बनाना।
न्युनतम वेतन 18000 प्रतिमाह करना

@

– मोहन थानवी

जटिल ऑपरेशन कर रोगी को दिया नवजीवन

*खबरों में बीकानेर* /

बीकानेर, 19 सितम्बर 2017। श्रीडूंगरगढ़ तहसील के कल्याणसर गांव की पूनी देवी को बाएं हाथ में लकवा हो गया; एम.आर.आई. जांच करवाने पर पता चला कि मरीज के दिमाग में दाई तरफ अति संवेदनशील हिस्सा (मोटर स्ट्रीप एरिया) में ट्यूमर था। पिछले पन्द्रह दिन से पूनी स्थानीय उपचार के साथ टोना आदि पर विश्वास करते हुए सही इलाज नहीं ले रही थी। बीकानेर लाए जाने के बाद सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध पी.बी.एम. अस्पताल में जांच की गई । न्यूरोसर्जरी विभाग के सह-आचार्य डॉ. सुशील आचार्य के नेतृत्व में 40 वर्षीय पूनी देवी का सफल ऑपरेशन कर नवजीवन दिया गया। पूनी देवी स्वस्थ है, तीन चार दिन के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। डॉ.सुशील आचार्य ने बताया टीम में डॉ.दिनेश सोढ़ी, डॉ.कपिल, डॉ.राकेश सिहाग और डॉ. अनूप शामिल थे। यूं हुआ उपचार और ऑपरेशन :- पूनी के पी.बी.एम. पहुंचने पर पांच दिन पूर्व डॉ.आचार्य व उनकी टीम ने रोगी व उसके परिजनों के समझाइश की तथा एम.आर.आई. करवाने की सलाह दी। तत्काल एम.आर.आई. की रिपोर्ट मंगवाने पर चिकित्सकों की टीम ने चर्चा कर मंगलवार को ही ऑपरेशन कर दिया गया। पूनी पत्नी मालाराम जाट का इलाज भामाशाह स्वास्थ्य योजना के तहत निःशुल्क किया गया हैं । चार घंटे लगे ऑपरेशन में :- पूनी देवी के ऑपरेशन में करीब 4 घंटें लगे। इसके बाद पूनी देवी होश में है तथा पूर्णतया स्वस्थ है। बीकानेर के पी.बी.एम. अस्पताल में अपनी किस्म का यह पहला ऑपरेशन है जिसमें रोगी को राजस्थान सरकार की महत्त्वाकांक्षी भामाशाह स्वास्थ्य योजना के तहत तत्काल राहत प्रदान की गई है। ऑपरेशन की जटिल प्रक्रिया :- डॉ.आचार्य ने बताया कि रोगी को बिना बेहोश किए हुए करीब 5 सेंटीमीटर गोल ट्यूमर को निकाला गया। पूरे ऑपरेशन के दौरान एनिथिसिया विभाग की पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ.साधना जैन, डॉ.कीवि एवं डॉ.गरिमा का महत्वपूर्ण योगदान रहा। डॉ.साधना जैन ने बताया कि इस प्रकार के ऑपरेशन बहुत चुनौती पूर्ण होते हैं, जिनमें रोगी को पूर्ण होश में रखते हुए बिना दर्द के ऑपरेशन करना पड़ता है। राजस्थान में ये अलग ऑपरेशन : सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आर.पी.अग्रवाल ने बताया कि मेडिकल कॉलेज व पी.बी.एम. की चिकित्सकों की टीम रोगियों का बेहतर इलाज करने, सरकार की कल्याणकारी भामाशाह स्वास्थ्य योजना का लाभ दिलाने के लिए निरन्तर प्रयत्नशील हैै। उन्होंने ऑपरेशन को राजस्थान में अपनी किस्म का अलग ही ऑपरेशन बताते हुए न्यूरोसर्जरी विभाग, एनिस्थिसिया विभाग तथा सहयोगी स्टॉफ तथा रोगी व उनके परिजनों को भी धन्यवाद दिया।

– मोहन थानवी

लता की गीतमाला में मुस्कराएंगे देवआनंद; गूंजेंगे तराने 26/9/17 को

*खबरों में बीकानेर*/

लता की गीतमाला में मुस्कराएंगे देवआनंद; गूंजेंगे तराने 26/9/17 को

बीकानेर 19/9/17। बीकानेर के संगीत प्रेमियों के लिए एम रफीक कादरी उस गायक कलाकार का नाम है जिसने बॉलीवुड के तमाम कलाकारों से जुड़े संगीत की जानकारी न केवल जुटाई वरन् भव्य तरीके से कार्यक्रम आयोजित कर सभी के साथ साझा भी की। उनकी संस्था अमन कला केन्द्र एम रफीक कादरी का ही दूसरा नाम समझा जाता है। गंगा थिएटर में सिनेमा देखने के शौक ने मुझे एम रफीक कादरी से परिचय का अवसर 1980-85 में दिया और तब से उनकी संगीत-कला के प्रति साधना की भावना अभिभूत करती है। एम रफीक कादरी के प्रयासों से अब तक सैकड़ों कार्यक्रम हो चुके हैं और इसी क्रम में एक अवसर और करीब है।

अमन कला केंद्र द्वारा 26 सितम्बर को टाउन हॉल में शाम 7 बजे हिन्दुस्तान की महान पार्श्व गायिका लता मंगेशकर (28सितम्बर) व देव आनंद के जन्मदिन के अवसर पर रंगारंग फिल्मी गीतों का प्रोग्राम ज़िंदगी प्यार का गीत है आयोजित किया जायेगा। केंद्र अध्यक्ष एम रफ़ीक कादरी व अनवर अजमेरी ने बताया कि कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती अर्चना थानवी चार्टर अध्यक्ष लायन क्लब (उड़ान ) होगी। प्रोग्राम की अध्यक्षता संयुक्त रूप से डॉ पी के सरीन व शहनाज पठान करेंगे । विशिष्ट अतिथि बी एस पी नेता नारायण हरी लेघा हीना मिर्जा डॉ तपस्या चतुर्वेदी भंवर लाल माकड़ दीपिका दवे विद्यावती जसमतिया एम आर मुगल असगर अली एल के गोस्वामी समुन्द्र सिंह राठौड़ डॉ यश बंशी माथुर डॉ सुधीर शर्मा मगन पारीक धर्मेंद्र सोनी होंगे। संस्था के सिराजु दिन खोखर एम दाऊद बीकानेरी व ख्वाजा हसन कादरी ने बताया कि प्रोग्राम में अहमद हारून कादरी गोपिका सोनी रुपाली जसमतिया किंजल अग्रवाल सुमन सैनी डॉ तपस्या चतुर्वेदी अनुराधा योगी डॉ प्रवीण चतुर्वेदी शैलेन्द्र चौहान डॉ अभिषेक गर्ग अनीस खरादी एम रफ़ीक कादरी अनवर अजमेरी ख़्वाजा हसन कादरी सिराजु दिन खोखर एल के गोस्वामी चौहान रविन्द्र जैन अशोक सोनी जसमतिया डॉ हिमांशु दाधीच डॉ पी के सरीन हसन अली सहित बीकानेर के जाने माने गायक कलाकार लता मंगेशकर के गाये गीतों के अलावा देव आनंद पर फिल्माये गीत पेश कर खुशियां मनायेगे । संचालन एम रफ़ीक कादरी करेंगे।

– मोहन थानवी

अब दिल्ली दूर नहीं…

*खबरों में बीकानेर*/

– सितंबर 2017 की 26 तारीख बीकानेरियन के लिए खास बनेगी। बीते वर्षों से बीकानेर-दिल्ली-बीकानेर हवाई मार्ग से नियमित सेवा आरंभ होने पर खुश उद्यमियों-व्यापारियों ने बीकानेर के बड़ी-पापड़, मोठ से बने भुजिया, ऊन उद्योग को पंख लगने की आशा भी व्यक्त की है। ऐसी ही आशाओं के साथ दिल्ली तक उड़ कर पहुंचने के लिए आश्वस्त बीकानेर के उद्यमियों ने इस हवाई यात्रा के लिए नियमित विमान सेवा उद्घाटन के दिन का इंतजार शुरू कर दिया है। यूं तो यह इंतजार तब ही से हो रहा है जब संत लाल बाबाजी और बीकाजी समूह के सतत प्रयासों के सुफल में बीकानेर में वायुयान सेवा के लिए तत्कालीन उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल भाई पटेल ने बीजारोपण किया था। बीकानेर से जयपुर तथा बीकानेर से दिल्ली और अन्य महानगरों तक हवाई सेवाओं के लिए बीते वर्षों से प्रयासरत बीकाजी ग्रुप के फन्ना बाबू उर्फ शिवरतन अग्रवाल सहित तमाम व्यापारियों, उद्यमियों के स्वप्न को साकार होने में जो समय लगा उस समय में बीकानेर से जयपुर तक उड़ान भरने का सपना भी साकार हुआ। बताते चलें कि प्रयासों के दौरान यहां सुप्रीम प्रतिनिधि राजेश गोयल और उद्यमियों के बीच अनौपचारिक मुलाकात हुई थी जिसमें बीकानेर – जयपुर के बीच हवाई यात्रा आरंभ करवाए जाने के प्रयासों पर भी चर्चा हुई थी और सर्वविदित है, देर हुई मगर हां, बीकानेरियन को जयपुर तक उड़ान भरने का अवसर मिला। जयपुर के लिए पहली उड़ान में उद्यमियों ने यात्रा की और इस बार दिल्ली के लिए भी शख्सियतों ने बुकिंग करवाई है। हालांकि उद्यमियों ने दबी जुबान में बीकानेर-दिल्ली के लिए उड़ान भरने तथा वहां से वापसी के समय में सहूलियत चाही है मगर अभी इसकी मांग नहीं की गई। उद्यमियों की मंशा के अनुसार उनके लिए सहूलियतों में शामिल है यहां व दिल्ली से टेकओवर करने का समय। बता दें कि बीते वर्ष व्यापार मंडल से जुड़े तथा विभिन्न व्यापारी संगठनों के उद्यमियों ने यहां से जयपुर तक नियमित हवाई सेवा को सफल बनाने पर बल दिया था। बाद में मामला यात्री सं- या पर अटक गया था । इसके अलावा बीते वर्ष ही एक नवंबर को जोधपुर से दिल्ली के लिए विमान सेवा शुरू कर दिए जाने को लेकर बीकानेर को इस विकासक्रम में पीछे रखे जाने पर दबे स्वर में नाराजगी भी जताई थी। जबकि ट्रायल के तौर पर नाल एयरपोर्ट पर जयपुर से आए विमान ने पहले बीकानेर की जमीन को चूमा फिर ख्यातनाम उद्यमियों को जयपुर तक उड़ान भी भरवाई थी। इसी सिलसिले में दिल्ली तक उडऩे के लिए अन्य संगठनों एवं प्रतिनिधियों के साथ साथ बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल द्वारा प्रयास युद्धस्तर पर जारी रहे। ऐसे ही प्रयासों के तहत वरिष्ठ उद्यमी मखन लाल अग्रवाल के निवास पर निजी स्तर पर उद्यमियों ने चर्चा की गई। मंडल के कोषाध्यक्ष घनश्याम लखाणी ने बताया कि संत लाल बाबा के आशीर्वाद स्वरूप यहां से दिल्ली तक हवाई सेवा आरंभ होने से न केवल बीकानेर के उद्योग-धंधों को विकसित होने के अवसर मिलेंगे बल्कि साथ ही साथ शिक्षा और अनुसंधान के लिए भी दुनिया का ध्यान बीकानेर आकर्षित कर सकेगा। कोषाध्यक्ष घनश्याम लखाणी के अनुसार पदाधिकारी शिवरतन अग्रवाल ने बीकानेर से जयपुर तथा दिल्ली हवाई सेवा आरंभ करवाने की मंशा से निजी स्तर पर प्रयास किए, उनके सहयोग से यहां आए विशेषज्ञों, उद्यमियों को इस मार्ग पर नियमित सेवाएं चालू होने पर सफलता के लिए आश्वस्त किया गया एवं वांछित तात्कालिक साधन-सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए भी बीकानेर आगे रहा। बीकानेर-दिल्ली-बीकानेर टेकओवर एवं लैंडिंग के सुबह-शाम के समय तय करने संबंधी उद्यमियों की मांग पर प्राधिकरण को विचार करना चाहिए।

-मोहन थानवी (वरिष्ठ पत्रकार, साहित्यकार एवं रंगकर्मी) विश्वास वाचनालय, सादुल कॉलोनी, बीकानेर

*अब दिल्ली दूर नहीं….

दैनिक युगपक्ष 18/9/17 शहर की डगर कॉलम

* *********